सुअर पालन से रोजगार

By Vikaspedia on 15 Nov 2017 | read
    010

introduction

 

बढ़ती हुई जनसंख्या के लिए भोजन की व्यवस्था करना अति आवश्यक है| भोजन के रूप में अनाज एवं मांस, दूध, मछली, अंडे इत्यादि का प्रयोग होता है| छोटानागपुर में जहाँ सिंचाई के अभाव में एक ही फसल खेत से लाना संभव है, वैसी हालत में साल के अधिक दिनों में किसान बिना रोजगार के बैठे रहते है| यह बेकार का बैठना गरीबी का एक मुख्य कारण है इस समय का सदुपयोग हमलोग पशुपालन के माध्यम से कर सकते हैं| अत: पशुपालन ही गरीबी दूर करने में सफल हो सकती है| आदिवासी लोग मुर्गी, सुअर, गाय, भैंस एवं बकरी आवश्य पलते हैं लेकिन उन्न्त नस्ल तथा उसके सुधरे हुए पालने के तरीके का अभाव में पूरा फायदा नहीं हो पाता है| सुअर पालन जो कि आदिवासियों के जीवन का एक मुख्य अंग है, रोजगार के रूप में करने से इससे अधिक लाभ हो सकता है|

लाभदायक व्यवसाय

अपने देश की बढ़ती हुई जनसंख्या के लिए केवल अनाज का उत्पादन बढ़ाना ही आवश्यक  नहीं है| पशुपालन में लगे लोगों का यह उत्तरदायित्व हो जाता है कि कुछ ऐसे ही पौष्टिक खाद्य पदार्थ जैसे- मांस, दूध, अंडे, मछली इत्यादि के उत्पादन बढ़ाए जाए जिससे अनाज के उत्पादन पर का बोझ हल्का हो सके| मांस का उत्पादन थोड़े समय में अधिक बढ़ने में सुअर का स्थान सर्वप्रथम आता है| इस दृष्टि से सुअर पालन का व्यवसाय अत्यंत लाभदायक है| एक किलोग्राम मांस बनाने में जहाँ गाय, बैल आदि मवेशी को 10-20 किलोग्राम खाना देना पड़ता है, वहां सुअर को 4-5 किलोग्राम भोजन की ही आवश्यकता होती है| मादा सुअर प्रति 6 महीने में बच्चा दे सकती है और उसकी देखभाल अच्छी ढंग से करने पर 10-12 बच्चे लिए जा सकते हैं| दो माह के बाद से वे माँ का दूध पीना बंद कर देते हैं और इन्हें अच्छा भोजन मिलने पर 6 महीने में 50-60 किलोग्राम तक वजन के हो जाते हैं| यह गुण तो उत्तम नस्ल की विदेशी सुअरों द्वारा ही अपनाया जा सकता है| ऐसे उत्तम नस्ल के सुअर अपने देश में भी बहुतायत में पाले एवं वितरित किए जा रहे हैं| दो वर्ष में इनका वजन 150-200 किलोग्राम तक जाता है| आहारशास्त्र की दृष्टि से सोचने पर सुअर के मांस द्वारा हमें बहुत ही आवश्यक एवं अत्यधिक प्रोटीन की मात्रा प्राप्त होती है| अन्य पशुओं की अपेक्षा सुअर घटिया किस्म के खाद्य पदार्थ जैसे- सड़े हुएफल, अनाज, रसोई घर की जूठन सामग्री, फार्म से प्राप्त पदार्थ, मांस, कारखानों से प्राप्त अनुपयोगी पदार्थ इत्यादि को यह भली-भांति उपयोग लेने की क्षमता रखता है| हमारे देश की अन्न समस्या सुअर पालन व्यवसाय से इस प्रकार हाल की जा सकती है| अच्छे बड़े सुअर साल में करीब 1 टन खाद दे सकते हैं| इसके बाल ब्रश बनाने के काम आते है| इन लाभों से हम विदेशी मुद्रा में भी बचत कर सकते हैं|

Accommodation for pigs

Accommodation should be made in a modern way so that it is clean and airy. There should be separate room for different age pigs. These are as follows:

A) Maternity pig accommodation

यह कमरा साधारणत: 10 फीट लम्बा और 8 फीट चौड़ा होना चाहिए तथा इस कमरे से लगे इसके दुगुनी क्षेत्रफल का एक खुला स्थान होना चाहिए| बच्चे साधारणत: दो महीने तक माँ के साथ रहते हैं| करीब 4 सप्ताह तक वे माँ के दूध पर रहते हैं| इस की पश्चात वे थोड़ा खाना आरंभ कर देते हैं| अत: एक माह बाद उन्हें बच्चों के लिए बनाया गया इस बात ध्यान रखना चाहिए| ताकि उनकी वृद्धि तेजी से हो सके| इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सुअरी बच्चे के खाना को न सके| इस तरह कमरे के कोने को तार के छड़ से घेर कर आसानी से बनाया जाता है| जाड़े के दिनों में गर्मी की व्यवस्था बच्चों केलिए आवश्यक है| प्रसूति सुअरी के गृह में दिवार के चारों ओर दिवार से 9 इंच अलग तथा जमीन से 9 इंच ऊपर एक लोहे या काठ की 3 इंच से 4 इंच मोटी बल्ली की रूफ बनी होती है, जिसे गार्ड रेल कहते हैं| छोटे-छोटे सुअर बचे अपनी माँ के शरीर से दब कर अक्सर मरते हैं, जिसके बचाव के लिए यह गार्ड रेल आवश्यक है|

ख) गाभिन सुअरी के लिए आवास

These houses should be kept in good condition, which has been eaten. Staying in the middle of the other is a partial injury to fight between one another or for other reasons, due to which the pregnancy can be harmed. In each room 3-4 suiery can be easily placed. At least 10-12 sq.ft should be given place to sit or sleep for each needle. In the living room itself, there should be a sound to eat his food and from that room should be an open place for him to roam.

C) Housing for Dysfunctional

The one who has not eaten a sire or should be kept in such a house. Each room can be kept up to 3-4 times. It should be a place for sleeping and roaming in the same manner as at home. At least 10-12 sqft area should be given for each sleeping bed or for sitting.

D) Accommodation for male pigs

Male pig which comes in reproduction should be kept in a separate room. Only one male pig should be kept in each room. Living together more than one fight, and try to eat others's food 10 feet for male pigs. In the living room X 8 feet should be provided. In the living room, there should be an open space attached to the room to drink and to roam for food. Measurement of such sounds should be 6 X4 X3 X4. Such a sound would be beneficial in all the above mentioned households.

E) Accommodation for growing children

After two months, ordinary children are separated from mother and are separated separately. At the age of 4 months male and female children are separated separately. It is good to keep children of one age together. By doing so, the child gets the same diet and increases the uniformity. Every child should have an average of 3X4 'space and at night he should be cautioned in the room.

Diet for pigs

It is very important to take care of food to take full advantage. It has been observed that 75 percent of the total expenditure is spent on its food. The food requirements vary on every aspect of pig's life. Growing children and maternal pigs require a higher amount of protein, so the high amount of protein in their diet is kept only 19 percent or more.

In the food, a mixture of corn, peanuts, sesame seeds, wheat bran, fish slit, mineral salts, vitamins and salt is given. Its mix is enhanced according to the need to increase the initial diet, increase the diet according to the diet recommended by the reproductive diet.

The forest is full of Chhotanagpur area. Many trees in the forest like gular, mahua are found. Gular fruits are nutritious elements. Keeping it dry, it can also be fed later. Sakhua seeds, common kernels and seeds of Jamuna also eat pig well. Guava and Kendu also eat Sauer with great passion.

The head and the hood of the thundia that throw, the pigs can be fed well. In the valley derived from the pig, dig the pig land and get the tuber origin.

Balanced diet management for pigs


Watch this video on balanced diet management for pigs

 

Comments